अगर आज तक आप भी ग़लत तरीके से Push-Ups कर रहे थे, तो अपनाएं ये 7 सही तरीके

अगर आप भी उन लोगों में से हैं जो दूसरों की बॉडी देखकर कल से जिम जाने की बात कहकर दूसरे ही पल उसे भूल जाते हैं. तो जनाब टेंशन लेने की ज़रूरत नहीं है. आप चाहें तो बिना जिम जाये भी अच्छी ख़ासी बॉडी बना सकते हैं, लेकिन इसके लिए आपको समय देना पड़ेगा. अब आप सोच रहे होंगे कि बिना जिम जाये भला बॉडी कैसे बन सकती है. तो आपको बता दें कि जिम में जाकर भारी भरकम वेट उठाने से ही नहीं, बल्कि पुश-अप्स और फ़ुल बॉडी एक्सरसाइज़ करके भी आप अच्छी ख़ासी बॉडी बना सकते हैं.

चलिए आज हम आपको पुश-अप्स के ज़रिये अच्छी बॉडी कैसे बनाई जा सकती है,उसी को लेकरकुछ महत्वपूर्ण टिप्स देने वाले हैं.

पुश-अप्स से होता क्या है?

पुश-अप्स फ़ुल बॉडी एक्सरसाइज़ मानी जाती है, जो छाती और मसल्स पर प्रभाव डालती है. आप चाहें तो इसे वार्म-अप और वर्क-आउट रुटीन में शामिल कर सकते हैं. लेकिन इसे करने से मिलने वाले फ़ायदों के लिए आपको इसे करने का सही तरीका भी आना चाहिए. ये आपके संपूर्ण शरीर को मजबूती देता है और शारीरिक ताक़त को भी बढ़ाता है. इस दौरान आपके हाथ, कंधे, छाती और पैरों की मसल्स सक्रिय रहती हैं.

पुश-अप्‍स कब करें ?

पुश-अप्‍स करने से पहले आपको थोड़ा वार्म-अप करना बेहद ज़रूरी है जिससे कि ब्लड सर्कुलेशन बराबर बना रहे. इसके लिए आप कम से कम 10 से 15 मिनट्स तक वार्म-अप कर सकते हैं. इसके बाद बॉडी को स्ट्रेच करें ताकि बॉडी की सारी जकड़न ख़त्म हो जाये और आप पुश-अप्‍स लगा सकें.

हालांकि, जिम में भारी वेट उठाने से पहले भी लोग पुश-अप्स का ही सहारा लेते हैं, लेकिन आज भी कई लोग इसे करते हुए कई ग़लतियां कर देते हैं, जो इस एक्सरसाइज़ के प्रभाव को कम कर देता है. आइए जानते हैं कि पुश-अप्स करने का सही तरीका क्या है और इससे क्या फ़ायदें मिलते हैं.

क्या है पुश-अप्स करने का सही तरीका?

1. सबसे पहले पेट के बल सीधे होकर लेट जाएं, इस दौरान आपका पूरा शरीर सीधा होना चाहिए.

2. अपने दोनों हाथों और पैरों को सीधा नहीं, बल्कि थोड़ा क्रॉस रखें.

3. पुश-अप्स करने से पहले शरीर का पूरा भार हाथों और पैरों पर बराबर आने दें.

4. इसके बाद अपने पूरे शरीर को हथेलियों की मदद से ऊपर की ओर उठाएं.

5. सांस लेते हुए शरीर को ऊपर ले जाएं और सांस छोड़ते हुए नीचे लेकर आएं.

6. ध्यान रखें कि इस दौरान शरीर का लोअर और अपर पार्ट एक साथ नीचे-ऊपर हों.

7. जो लोग इस तरीके से पुश-अप्स नहीं कर पा पाएं, वो शुरुआत में बेड के सहारे भी पुश-अप्स कर सकते हैं.

एक बार में कितने पुश-अप्‍स करें?

अगर आप पुश-अप्‍स की शुरूआत करने जा रहे हैं, तो एक बार में ज़्यादा पुश-अप्‍स करने से बचें. इसके लिए आप 10-10 के तीन सेट बना सकते हैं. जिसे बाद में अपनी क्षमता के अनुसार इसकी संख्‍या बढ़ा सकते हैं.

पुश-अप्‍स कब करें

पुश-अप्‍स करने का सबसे सही समय सुबह होता है. इस वक़्त एक्सरसाइज करना सबसे अधिक फ़ायदेंद होता है, क्‍योंकि नींद से उठने के बाद शरीर को ऊर्जावान बनाने के लिए एक्सरसाइज़ बहुत ज़रूरी है. इसलिए आप सुबह के वक़्त पुश-अप्‍स करें, तो बेहतर होगा.

पुश-अप्स के फ़ायदे

पुश-अप्स बिना वेट उठाये की जाने वाली एक्सरसाइज़ है. इससे चेस्ट तो मज़बूत होती है, साथ ही आपके बाइसेप्स भी अच्छी शेप में बनते हैं. इससे सबसे ज़्यादा फ़ायदा कंधों को होता है. पुश-अप्स करने से शरीर की अतिरिक्त कैलोरी बर्न होती है और शरीर का फ़ैट भी कम होता है.

पुश-अप्स की सबसे ख़ास बात ये है कि आप इसे कहीं भी कर सकते हैं. इसके लिए आपको जिम जाने की ज़रूरत नहीं है.

Leave a Reply

%d bloggers like this: