Saturday, July 13, 2024
Politics

PM का पूर्वांचल दौरा : भोले बाबा जैसा भोलापन है बनारस की पहचान

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का शिलान्यास करने आजमगढ़ पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व की सरकारों पर जोरदार हमला किया। शिलान्यास कार्यक्रम के बाद जनसभा में उमड़ी भीड़ को संबोधित किया। पीएम मोदी को सुनने के लिए दूरदराज से लोग यहां जमा हुए। चारों तरफ हर हर मोदी और योगी-योगी के नारे गूंजते रहे।
पीएम मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत भोजपुरी बोलकर कर की। उन्होंने उपस्थित जनसभा का अभिवादन भोजपुरी में किया। उन्होंने कहा कि अपने निर्माण के पूरा होने के बाद यह सबसे लंबा एक्सप्रेस वे होगा। इससे न केवल पूर्वी उत्तर प्रदेश बल्कि पूर्वी भारत में भी विकास का नया अध्याय आरंभ करेगा।

341 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेसवे से लखनऊ सहित बाराबंकी, अमेठी, सुल्तानपुर, फैजाबाद, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर को लोगों को फायदा पहुंचेगा। इस मौके पर उनके साथ उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी पहली बार आजमगढ़ पहुंचे हैं। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार दोपहर दो दिसवीय दौरे पर अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे। दोपहर तकरीबन दो बजे बाबतपुर स्थित लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पहुंचे पीएम की आगवानी यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल राम नाईक ने की।

इस दौरान राज्य मंत्री अनिल राजभर और डॉ नीलकंठ तिवारी सहित जिले के सभी बड़े अधिकारी बाबतपुर एयरपोर्ट पर मौजूद रहे। वाराणसी एयरपोर्ट से प्रधानमंत्री आजमगढ़ के लिये रवाना हो गए।

पीएम शनिवार शाम वाराणसी के राजातलाब स्थित कचनार ग्राम सभा में विशाल जनसमूह को संबोधित करेंगे साथ ही तकरीबन 1000 करोड़ की सौगात पूर्वांचल को देंगे।

पीएम मोदी के भाषण की मुख्य बातें

पीएम मोदी ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि आज यह मेरे लिए बहुत ही गौरवशाली दिन है। आजमगढ तपस्वी, संत, मुनियों और महापुरूषों की धरती है। मैं यहां के गौरव से भरे इतिहास के आगे नतमस्तक हूं। पूर्वी उत्तर प्रदेश में अब विकास की नई गंगा में बहेगी।

यहां का विकास हो, पिछडे इलाकों को ज्यादा तेजी से दूसरों के बराबर लाया जाए यह यूपी की जनता का प्रयास है हम तो सेवक हैं। चार साल पहले बीजेपी को भरपूर आर्शीवाद देकर केन्द्र में कार्य करने की जिम्मेदारी दी।

पिछले एक साल में जिस तरह से योगी आदित्यनाथ की कमान में काम हुआ है वह अभूतपूर्व है। बडे बडे अपराधियों की स्थिति क्या है यह सबको पता है। भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने यूपी में विकास का उत्तम वातावरण बनाने का प्रयास किया है। अपराध पर निंय़त्रण लगाकर योगी जी ने बडे से बडा निवेश लाने का प्रयास किया है।

चार वर्ष पहले का वो समय भी नहीं भूलना चाहिए

– जब से यूपी में भाजपा की सरकार आई है तब से काशी के विकास की गति तेज हो गई।

– सभास्थल के पास ही पेरिशेबल कार्गो केंद्र है जो अब बनकर तैयार है, इसका शिलान्यास भी मेरे द्वारा किया गया था और लोकार्पण का सौभाग्य भी मुझे मिला है। यह कार्गो सेंटर यहां के किसानों के लिए बड़ा वरदान साबित होने वाला है।

– बदलती काशी की तस्वीर अब हर तरफ दिखने लगी है। मीडिया, सोशल मीडिया पर काशी की सड़कों, घाटों और चौराहों की तस्वीरें जो भी देखता है, उसका मन प्रफुल्लित हो जाता है। सिर पर लटकते बिजली के तार अब गायब हो गए हैं।

– देश और दुनिया से भोले के जो भक्त काशी आते हैं उनको असुविधा न हो इसकी व्यवस्था की जा रही है। आस्था और सांस्कृतिक महत्व के जितने भी स्थान काशी में हैं, उनको जोड़ने वाली दो दर्जन सड़कों को या तो सुधारा गया है या फिर नए सिरे से निर्माण किया गया है।

– चार वर्ष के दौरान काशी में लगभग 10 हजार करोड़ रुपये का निवेश हो चुका है और यह सिलसिला जारी रहेगा। 2014 के बाद हमारे सामने कई चुनौतियां थीं। पहले की प्रदेश सरकार से काशी के विकास में सहयोग तो मिलता नहीं था, उल्टे बाधाएं उत्पन्न की जाती थीं।

– 2017 में जब से आपने उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार को चुना है, तब से पूरे प्रदेश के साथ ही काशी के विकास की गति तेज हो गई है। इसी क्रम में मैंने अभी काशी में करीब 1000 करोड़ की 30 से अधिक परियोजनाओं का शिलान्यास किया है।

– हमें चार वर्ष पहले का वो समय भी नहीं भूलना चाहिए, जब वाराणसी की व्यवस्थाएं संकट में थीं। हर तरफ कचरा-गंदगी, खराब सड़कें, ओवरफ्लो होता सीवर, खंभों से लटकते तार, जाम से पूरा शहर परेशान रहता था।

– ये जो भी काम आज हो रहा है वो बनारस को स्मार्ट सिटी में बदलने वाला है। यहां इंटिग्रेटेड और कंट्रोल सेंटर पर तेज़ी से काम चल रहा है। पूरे शहर के प्रशासन का, पब्लिक सुविधाओं का नियंत्रण यहीं से होने वाला है।

– मेक इन इंडिया के साथ-साथ डिजिटल इंडिया भी रोज़गार का प्रभावी माध्यम सिद्ध हो रहा है। इसी कड़ी में आज बनारस में टीसीएस के बीपीओं की शुरुआत हुई है। ये केंद्र बनारस के युवाओं के लिए रोजगार के नए अवसर लेकर आएगा।

Leave a Reply